NCTE ने TET (टीचर एलेजिबिलिटी टेस्ट )की अर्हता में बड़ा बदलाव किया 

NCTE-TET
NCTE-TET

NCTE(National Council for Teacher Education) ने TET (टीचर एलेजिबिलिटी टेस्ट )की अर्हता में बड़ा बदलाव किया है।
 NCTE ने जुलाई 2011 के पूर्व स्नातक परीक्षा में 50 फीसदी से कम अंक पाने वाले बीएड धारकों को टीईटी में शामिल होने की अनुमति दे दी है।
NCTE की अधिसूचना में में बताया गया है की स्तानक (graduate) में चाहे कितने भी % अंक हो, उसे TET की परीछा में शामिल होने की अनुमति दी जाती है।
NCTE ने 13 नवंबर 2019 को नोटिफिकेशन में 23 अगस्त 2010 व 29 जुलाई 2011 के पूर्व आदेशों में संशोधन कर दिया है।
NCTE ने बताया है की यदि अभ्यर्थियों ने 2011 के बाद बीएड किया है तो स्नातक अथवा परास्नातक परीक्षा में किसी भी एक में 50 फीसदी या इससे अधिक अंक पाने वाले अभ्यर्थी भी TET में शामिल हो सकते हैं।
इससे पहले TET की परीछा में स्तानक 50% का होना आवश्यक था। पर अब 50% की अनिवार्यता खत्म कर दी गयी है
नोट - 2011 के बाद के स्तानक को 50% का होना अनिवार्य है।
इसे भी देखे -